Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2016

Agar aap pregnant hai to in 19 chijo ko jaan le

Agar aap pregnant hai to in 19 chijo ko jaan le
Pregnancy ke doran hume kuch chijo ka dhyan dena behad jaruri hota hai, ye hamare or hamare pet me pal rahe bacche ki health ke liye bahut jaruri hai. Pregnant aurate apne health ka dhyan nahi rakh pati or jiska sidha sidha asar unke bacche par padta hai. Aise me hum kuch baato ka dhyan rakhe ke apne or apne bacche ki health ka care kar sakte hai. Agar aap pregnant hai to aapko in sabhi baaton ka dhyan rakhna hoga taki aage chalkar koi problem na aaye.

1. Pregnancy ke doran billiyo (cat) se duri banaye rakhe. Agar billiya pali hui hai, to unke contact me na rahe. Jis box me wah baithti hai, aap uski safai khud na kare. Billi me mal Toxoplasmosis ki aasanka rahti hai, ussay failnewali parasites garbhpat (miscarriage), mrit bacche ke janm or kai bimariyo ke sath janm lene ka khatra paida karte hai.

2. Bhale aap smoking karti ho, par pregnancy ke doran isay puri tarah tyag de. Cigarette pinewali mahilao ka garbhpat (miscarriage) ho jata hai. P…

बच्चों को जब बाहर ले जायें - When children have to carry out, in Hindi

बच्चों को जब बाहर ले जायें - When children have to carry out, in Hindi, jab bacch eko bahar le jaye to kya kare, bacche bahut hi badmas or sararati hai kya karu?

शादी , विवाह , party और यूं ही किसी friend-relatives से मिलने के लिए जाना-समाज में रहकर ये सब तो करना ही पड़ता है . ऐसे में बच्चे भी आपके साथ होते हैं .

आप प्रसन्नता से जाते हैं और झुंझलाहट से घर लौटते हैं . हर माता-पिता लौटते time एक दुसरे से कहते हैं , कितने असभ्य हैं हमारे बच्चे .
हाँ देखो मित्र  के बच्चों से झगड़ बैठे .

Plate तोड़ दिया .
नाक में दम कर दिया .
एक minute भी चैन से नहीं बैठा .
न जाने क्या सोचा होगा उन्होंने .
अच्छा होता , अगर इन्हें साथ नहीं ले जाते .

बात common सी है पर कभी-कभी ऐसा होता है , जब आप किसी के घर guest बनकर जातें हैं और बच्चों की वजह से वहां लज्जित होना पड़ता है . Reality में कुछ बच्चे ऐसे होते हैं , जो दुसरे के घर चैन से नहीं बैठ सकते . कुछ बच्चे दुसरे के घर को play ground बना लेते हैं और तोड़-फोड़ start कर देते हैं . कुछ बच्चे इतने जिद्दी होते हैं कि जिद्द पूरी न होने पर दुसरे के घर की दीवारों से सर पटकना sta…

स्वास्थ्य-संबंधी आवश्यक निर्देश - Health Related Important Instructions In HINDI

स्वास्थ्य-संबंधी आवश्यक निर्देश - Health Related Important Instructions In HINDI, health tips in Hindi, Healthy rahne ke liye kuch baato par dhyan dena jaruri hai....


चैत में नीम , वैशाख में चावल , ज्येष्ठ में दोपहर को सोना , आषाढ़ में घर की मरम्मत , सावन में हर्रे , भादो में चना , क्वार में गुड़ , कार्तिक में मुली , अगहन में तेल , पूस में दूध , माघ में खिचड़ी , फाल्गुन में सुबह नहाना करने से स्वास्थ्य उत्तम रहता है . सुख वे लम्बी आयु की प्राप्ति होती है .
इन पर ध्यान दें -

चैत - इस महीने में गुड़ न खाएं .
वैशाख - इस महीने में नया तेल न खायें .
ज्येष्ठ - इस महीने में दोपहर में न चलें .
आषाढ़ - इस महीने में पका बेल न खायें .
सावन - इस महीने में साग न खायें .
भादो - इस महीने में दही न खायें .
क्वार - इस महीने में करैला न खायें .
कार्तिक - इस महीने में जमीन पर न सोयें .
अगहन - इस महीने में जीरा न खायें .
पूस - इस महीने में धनिया न खायें .
माघ - इस महीने में मिश्री न खायें .
फाल्गुन - इस महीने में चना न खायें .


आवाश्यब बातें -


बासी मांस न खायें .
बृद्धा औरत के साथ सहवास (sex) न करें .
तुरंत का जमा दही न खाएं .
ग…

स्वास्थ्य-रक्षा के 17 नियम - 17 Hygiene Rules In HINDI

स्वास्थ्य-रक्षा के 17 नियम - 17 Hygiene Rules In HINDI, hamesa healthy rahna hai to apnaye ye 17 tips..

यहाँ पर कुछ प्राकृतिक नियम स्वास्थ्य-रक्षा और सामान्य ज्ञान के लिए दिये जा रहे हैं , जो हर व्यक्ति के लिए लाभप्रद है . आइए जाए इनके बारे में .

1. सुबह उठकर कुल्ला करके एक गिलास ताजा पानी पीयें , सूर्योदय से पहले उठें . इससे चित्त अति प्रसन्न रहता है .

2. रात को किसी ताम्बे के बर्तन में पानी रख दें . सुबह शौच जाने से पहले नित्य उस पानी को पीते रहने से पैखाना साफ होता है , कब्ज नहीं रहता .

3. शौच करते समय दांतों का दबाकर बैठने से दांत जीवन भर नहीं हिलते और न कभी लकवा रोग की शिकायत ही होती है .

4. हाँथ-मुंह धोते समय मुंह में एक घूंट पानी को भरकर आँखों पर पानी के छीटें दें , इससे आँखों की रोशनी बढ़ जाती है .

5. भोजन करते समय पानी न पियें , अगर विशेष आवश्यकता हो , तो एक घूंट ले सकते हैं . भोजन के एक घंटे के बाद ही पानी पीयें , इससे भोजन पेट में आसानी से पाच जाता है .

6. भोजन के बाद टहलना आवश्यक है .

7. रात को सोने से पहले पानी पीना हितकारी है .

8. सप्ताह में कम से कम एक बार सरसों तेल के मालिस अवश्…

Kaise Jeete Ladkiyo Ka DiL ? - How to win the hearts of girls ? in Hindi

Kaise Jeete Ladkiyo Ka DiL ? - How to win the hearts of girls ? in Hindi
How to win girl heart ? Ladkiyo ka dil kaise jite ?
Koi pyar me haarna nahi chahta , chahe ladke ho ya ladkiya dono hi apne partner ke dil jitna chahte hai . Pyar karna or usay pana dono hi alag-alag chije hai , waise to ladkiyo ka dil jitna koi aasan kaam nahi .

Ladki ko ekdum se apne pyar ka ijhar nahi karna chahiye , pehle unse friendship karni behad jaruri hai . Kyonki ladkiyo ke maan me ye baat hoti hai ki ' accha dost hi accha life partner ban sakta hai ' .

Gossip karna to ladkiyo ka adhikar hai , iske bina wo rah nahi sakti . Baatchit karne se bhi ladkiyo ko impress kiya ja sakta hai , chupchap rahne wale ladko ke mulable baatchit karnewale ladke ladkiyo ke bich famous rahte hai .
Kuch tips jise aajmakar aap ladkiyo ka dil jeet sakte hai ?
1. Impress -
Kuch aisa kaam kare ki ladki aapse impress ho jaye , jaise - padhai me top karna , sabki respect karna , singing , dancing , sabki help karna etc . Sabse …

सर्दी-जुकाम दूर भगाने के 3 घरेलु नुस्खे - 3 home remedies to ward off cold in Hindi

सर्दी-जुकाम दूर भगाने के 3 घरेलु नुस्खे - 3 home remedies to ward off cold in Hindi, sardi jukam ka gharelu ilaj, sardi jukam hone par kya kare ?

1. रात को खाने के बाद और सोने के एक घंटा पहले एक-डेढ़ गिलास ताजा पानी पीयें , फिर सोने के दस मिनट पहले 100-150 ग्राम गुड़ खाएं . गुड़ खाने के बाद बिल्कुल पानी न पीयें , केवल पानी से मुंह साफ कर लें , सुबह तक सर्दी-जुकाम ठीक हो जाएगा .



2. रोज सुबह 8 तुलसी के पत्ते और दो कली मिर्च खाने से कभी सर्दी-जुकाम नहीं हो सकता .

3. जिन्हें काफी समय से जुकाम बना रहता हो , उनके लिए एक गुणकारी उपाय प्रस्तुत है . जिस दिन यह उपाय करें , उस दिन शाम को हल्का भोजन ही करें , इसके पहले 2-3 दिन से तले हुए और मिर्च मसाले वाले पदार्थों का सेवन बंद कर दें , शाम के भोजन के 2 घंटे बाद रात को गेंहू के आटे में थोड़ा गुड़ डालकर कूट लें और इस आटे में थोड़ा देशी घी मिलाकर आटा गूँथ लें और मोटी रोटी बनाकर तवे पर ही घुमा-घुमा कर उलटते-पलटते कपड़े से दबादबा कर सेंक लें . यह बिस्कुट की तरह खस्ता बन जाएगा . इसे ताजा और गरम ही खा लें , इसके ऊपर पानी न पिएं .

हमेशा सकारात्मक सोच - Always Think Positively , in Hindi

हमेशा सकारात्मक सोच - Always Think Positively , in Hindi
Stress , tension , depression , frustration aajkal ke nojawano ke life ka hissa ban gya hai . Koi apna patni se paresan hai , to koi boss se . Koi apna ghar nahi bana pa raha hai , to kisiko is baat ki chinta hai ki umr nikali ja rahi hai or shadi nahi ho rahi . Paisa , job , promotion related tension to sabhi ko hai .

Kya aap bhi tension me ji rahe hai ?
Aakhir is tension , stress ki wajah kya hai ?

Aaj ki new generation ko apni life se bahut jyada expectation hai . Kisi bhi baat ki aasha karna or usay prapt karne ke liye koshis karna acchi baat hai lekin jab wah aasha puri nahi hoti to nirasha ban jati hai or samay gujarne par chinta ka rup le leti hai . Hum dukhi rahne lagte hai or apne aapko durbhagysali samajhne lagte hai .

Durbhagy or sobhagy yah dono maan ki situation hai . Agar aap dhuan se soche to aapko pata hoga ki apne jivan ki kisi important ghatna se pahle aapka maan kai dino tak baichain raha .

Exam ke result se pehle …

क्या है विवाह कानून ? - Hindu Marriage Act in Hindi

Hindu Marriage Act 1955 के section 7 के मुताबिक , शादी हिन्दू धर्म के अनुसार , पुरे रीती-रिवाज से होनी चाहिए .
Section 8 शादी के registration के बारे में बताता है . State Government के बनाए नियमों के मुताबिक proof के लिए शादी का registration आवश्यक है .
Section 14 के मुताबिक , हिन्दुओं में शादी के बाद एक साल तक कोई भी तलाक (divorce) के लिए अदालत में अर्जी नहीं दे सकता है .
Section 15 के अनुसार , कोई भी व्यक्ति तभी दोबारा शादी कर सकता है , जब अदालत ने उसका तलाक स्वीकार कर लिया हो . अगर अदालत में तलाक का case चल रहा है , तो उस दौरान भी वह दोबारा शादी नहीं कर सकता .
Section 24 के अनुसार यदि applicant की salary कम है , चाहे वो पति हो या पत्नी , जो खर्च afford कर सकता है , उसे अदालत में case का खर्चा उठाना पड़ेगा . यही बात respondent पर भी लागु होता है .
Special Marriage Act 1954 के मुताबिक , शादी के लिए लड़के की उम्र 21 साल और लड़की की उम्र 18 से कम नहीं होनी चाहिए .
दोनों एक ही माता-पिता की संतान न हों .
शादी के बाद उसका written notice district के marriage officer को देना जरुरी है .
Marriage office…

क्या धुम्रपान से भी कद बढ़ने से रुकता है ? smoking and increase height fact

क्या धुम्रपान से भी कद बढ़ने से रुकता है ? smoking and increase height fact

धुम्रपान (तम्बाकू ) सेवन के बारे में एक शिकागो के एक शरीर शास्त्री का कहना है कि तम्बाकू में nicotine नमक एक पदार्थ होता है . उसमें इतना विष होता है कि एक औस का 1/4 भाग यदि प्राणी के रक्त में injection द्वारा दिया जायतो वह मर जाएगा . इसका 1/3 भाग हरेक सिगरेट में होता है .
Nicotine से ह्रदय की गति (heart beat) बढ़ती है . सिगरेट पिने वालों के ह्रदय को 24 घंटे में तीस हजार बार धड़कना पड़ता है . इससे या बात स्पष्ट हो जाती है कि सिगरेट पिने वाले लोग ह्रदय रोग का शिकार हो जाते हैं . सिगरेट से सारे शरीर में तेजी से जहर फैलने लगता है .


जो लोग बचपन से धुम्रपान करते हैं . उनके कद बढ़ने में बड़ी बढ़ा पड़ती है वैसे भी आम तौर पर धुम्रपान से शरीर में अनेक रोग फ़ैल जाते हैं . इन आदत का प्रभाव संतान पर भी अधिक पड़ता है .

इसलिए हर छोटे-बड़े प्राणी को यही सलाह दी जाती है कि धुम्रपान से दूर रहें . खेद की बात तो यह है कि आज कल धुम्रपान fashion बनता जा रहा है . बड़े लोगों की औरतें तक भी सिगरेट पिने लगी हैं . यह तो और भी बुरी बात है . इसका प्रभाव …

क्या दवाइयों से कद लम्बा होता है ? - Does Medicines Enlarge Your Height ? In HINDI

क्या दवाइयों से कद लम्बा होता है ? - Does Medicines Enlarge Your Height ? In HINDI, kya medicines se height badh sakti hai, kya dawaiyo se kad badhne me madad milti hai ?

इस समय जो संकट कद (height) छोटा होने का चल रहा है . उसका लाभ उठाने के लिए कोई भी प्राणी पीछे रहने को तैयार नहीं . इनमे कुछ ऐसे स्वार्थी तत्व शामिल हो गए हैं , जो धन कमाने के लोभ में अंधे होकर , बेमतलब की दवाइयां बेचे जा रहे हैं . उनके विज्ञापन (advertisement) कुछ इस प्रकार के होते हैं कि उसे पढ़ते ही छोटे कद वाले यह महसूस करने लगते हैं कि इस दवाई से उनका कद लम्बा हो ही जाएगा . जैसे मैंने एक विज्ञापनकर्ता , एक आधे-अधूरे डॉक्टर का विज्ञापन पढ़ा , जो इस प्रकार से था -

30 दिन में कद (height) लम्बा होने की गारंटी , हमारे पास जर्मन , अमेरिका , इंग्लॅण्ड के प्रशिद्ध डॉक्टरी की कुछ ऐसी दवाइयां हैं , जिन के उपयोग से आप 30 दिन में शर्तिया कब लम्बा कर सकते हैं .

अथवा

ऐसा विज्ञापन भी होता है -
" छोटे कद वाले निराश नहीं " " हमारे पास साधू-संयासियों द्वारा तैयार किए गए देशी जड़ी-बूटियों के अनमोल नुस्खे हैं . जिनके सेवन से आ…

जीवन की सच्चाई - Truth Of Life in Hindi

जीवन की सच्चाई - Truth Of Life in Hindi
ईश्वर की शक्ति के आगे हम इंशान कुछ नहीं कर सकते . भाग्य बड़ा बलवान है . नसीब में जो लिख है , उसे टाला नहीं जा सकता . लेकिन कर्म के बिना नसीब तो नहीं बन सकता , सिर्फ भाग्य के सहारे जीने वाले लोगों का जीवन एक पल भी नहीं चल सकता . जब हम ये देखते हैं कि पशु-पक्षी , कीड़े-मकोड़े सबके सब अपना पेट भरने के लिए परिश्रम तो किसी न किसी रूप में करते ही हैं . फिर इन्सान के बारे में हम यह क्यों निर्णय ले लेते हैं कि -
" जो भाग्य में होगा , वही तो मिलेगा "
भाग्य बनाने से बनता है . घर बैठने से नहीं . कोई किसी के लिए कुछ नहीं करता बल्कि खुद परिश्रम करके पाना पड़ता है .

" भाग्य की लकीरें मुंह से नहीं बोलती " खुद इनकी आवाज सुननी पड़ती है . दुख और सुख जीवन के दो द्वार हैं , जो समय के अनुसार खुलते बंद होते रहते हैं .

सुख में आनंद मिलता है तो इन्सान ईश्वर को भूल जाता है . उस समय तो उसके होंठों से यही आवाज निकलती हैं कि -

देखो मैंने यह सब कुछ करके दिखा दिया .
मैंने यह कर दिया .
मैंने वो कर दिया .
मैं हर बजी जीतता हूं .
कहने का अर्थ यह है कि प्राणी सुख में सब कुछ …

दिन-रात का छोटा बड़ा होना

[caption id="" align="aligncenter" width="527"] दिन-रात का छोटा बड़ा होना[/caption]



21 June को उत्तरी गोलार्द्ध (north pole) में दिन बड़े (लम्बे) तथा रात छोटी होती है .
21 June को दक्षिण गोलार्द्ध (south pole) में दिन छोटे तथा रात लम्बी (बड़ी) होती है .
22 December को उत्तरी गोलार्द्ध (north pole) में दिन छोटे तथा रात लम्बी (बड़ी) होती है .
22 December को दक्षिण गोलार्द्ध (south pole) में दिन बड़े (लम्बे) तथा रात छोटी होती है .
21 March तथा 23 September को उत्तरी गोलार्द्ध (north pole) तथा दक्षिण गोलार्द्ध (south pole) में रात-दिन बराबर (एक समान) होते हैं .

मुंहासे दूर करने के 5 घरेलु टिप्स - 5 Home Remedies Tips To Remove Acne In Hindi

मुंहासे दूर करने के 5 घरेलु टिप्स - 5 Home Remedies Tips To Remove Acne In Hindi, muhase hone par kya  kare, muhase dur karne ka gharelu upay, muhase ka gharelu ilaj...

1. एक कप दूध को खूब देर तक औताएं . खूब गाढ़ा हो जाए , तब एक नींबू नीचोड़कर निचे उतार कर हिलाते हुए ठंडा होने तक रख दें . रात को स्टे समय इसे चेहरे पर लगाकर मसलें , चाहें तो घंटे भर बाद धो डालें या रात भर लगा रहने दें और सुबह धोएं . इससे मुंहासे ठीक होते हैं और चेहरे की त्वचा उज्जवल और चमकदार होती है .


2. मसूर की डाल की खूब बारीक़ पीसकर दूध में फेंट लें और मुंह पर लगा दें . 10 मिनट बाद रगड़कर मुंह धो लें . एक सप्ताह तक यह प्रयोग सुबह शाम दोनों वक़्त करें .



3. संतरे का छिलका 100 ग्राम में लेकर छाया में सुखाकर पिसें . इसमें 100 ग्राम बाजरे का आटा और 12 ग्राम हल्दी मिलाकर पानी में गुंथकर चेहरे का उबटन करें . फिर साफ पानी से चेहरा धो लें , कुछ ही दिनों में चेहरा खिल उठेगा .

4. गाजर का रस , टमाटर का रस , संतरे का रस और चुकंदर का रस लगभग 25-25 ग्राम की मात्रा में रोजाना दो महीने पिने से चेहरे की झाई , दाग , मुंहासे दूर होकर चेहरा साफ …

खाना खाने से पहले भोजन को क्यों भगवान को अर्पण करते हैं ? - Why do food offerings to God before eating?

हम और हमारा भोजन - We And Our Food , in Hindi
यह प्रथा (tradition) चली आई है कि जब कुछ खायें तो भगवान को अर्पण (offering) करें. इसका वैज्ञानिक अर्थ (scientific meaning) तो कम ही लोग जानते हैं लेकिन इतना सच है कि यह भी था कि हमारे ऋषियों ने दो तरह का भोजन (food) बताया एक साकाहारी (vegetarian) और दूसरा मांसाहारी (non-vegetarian).

आज से 20-25 साल पहले से मनोविश्लेषकों (Psychoanalysts) ने यह निष्कर्ष (conclusion) निकालने की कोशिश की है भोजन और अपराधी प्रकृति (criminal nature) में क्या सम्बन्ध (relation) है. उन्होंने ये पाया कि जो भोजन साकाहारी भोजन (vegetarian food) कहा जाता है उसको खाने से मस्तिष्क (mind) में जो amino acid निकलती है, रासायनिक पदार्थ निकलते हैं वह उसको शान्त बनाते हैं.

इसके विपरीत उसी research में यह भी पाया कि मांस-मच्छी मांसाहारी भोजन (non-vegetarian food) किया जाता है तो उनके द्वारा जो मस्तिष्क (mind) में रासायनिक पदार्थ amino acid पहुँचती है वह दूसरी होती है, वह उसको चंचल (playful) बनाती है. चंचल मनुष्य ही अपराधी प्रवृत्ति (criminal nature) का अधिक होता है. जो हमारे ऋषिय…

कैसे Eyebrow बनाएं ? - How To Do Eyebrow Threading ? in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="576"] कैसे Eyebrow बनाएं ? - How To Do Eyebrow Threading ? in Hindi[/caption]


Threading की सामग्री -

Thread
टेलकम पाउडर
cold cream
बर्फ (ice)

Threading करने की विधि -
Threading हाथ , पैर और eyebrow में किया जाता है . इसका अर्थ होता है अनचाहे बालों बालों को निकलना , इसे करते समय एक बात का ध्यान होना चाहिए कि बालों को विपरीत दिशा में निकाला जाए . Threading करने से पहले टेलकम पॉवर लगाइए . उसके बाद जिसका threading हो रहा है उसे हम ओनके आँखों के लीचे या ऊपर tight पकड़ने को कहेंगे . अगर tight नहीं हुआ तो भौवे के के काटने का डर रहेगा .
अब हम धागे को सबसे पहले मुंह में लेकर दांत से पकड़ेंगे और अपने बाएं हाथ हो पांच बार घुमाएंगे . घुमाने के बाद बाएं हाथ हो धागे के भीतर तीनो उंगलियाँ डालकर आँखों के भौए के निचे रखकर दांतों से बारीकी सी खिचेंगे , बाल हमेशा विपरीत दिशा में हो , उसके बाद उसे हम अच्छा सा आकर दे सकेंगे . यदि eyebrow करने के बाद दाने निकल आए तो बर्फ से मसाज कर देना चाहिए .
सावधानियां -


Eyebrow जिस shape में हिं उसी shape में …

Sarm ya social phobia

Sarm ya social phobia, baat karne me dar lagta hai kya karu? mujhe itni kyu saram aati hai? sochta hu par kar nahi pata, main kya karu?

Kuch aise log hote hai jo logo se milne-julne se katrate hai . Darasal , usne lagta hai ki wah baki logo se sundar nahi hai , na hi usay unki tarah samajh hai . Yaha tak ki shopping ke liye mole or market jane me bhi unhe musibat mahsus hoti hai . Wah sochte hai ki jane kaise wah dusro ke samne shopping kar payenge or kuch gaat utha liya , to kahi log us par hansne na lage . Ve log na tho sarmile hai na hi unme confidence ki kami hoti hai . Ve social phobia ke shikar hai.

Social phobia ek tarah ka energetic disorder hai , aise vyakti ko logo se baatchit karne me dar mahsus hota hai , usay har samay yahi lagta hai ki pata nahi log unke bare me kya kahenge . Aise log sabke bich rah kar bhi sabse kate-kate or khud me hi simte rahte hai .

Yaha tak ki ghar me guest ke aane par ye unke samne jane ke katrate hai . Agar samay par dar ka ilaj na kiya jaye , to ai…

नाम कमाया नहीं जाता - Motivational story in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="630"] नाम कमाया नहीं जाता - Motivational story in Hindi[/caption]


एक समय की बात है , एक राजा जो अपनी प्रजा से बेहद प्यार कटा था , अपनी प्रजा को खुश देखना चाहता था . एक बार राजा ने सोचा के मेरे राज्य में काफी गरीब परिवार बड़ी कठिनाई से गुजरा करते हैं क्यों न उनके लिए अपने खजाने के द्वार खोल दुए जाए और जिसे जितना धन लेना है वो ले लाए , जिससे मेरे राज्य में कोई गरीब नहीं रहेगा और मेरा भी बड़ा नाम होगा . उन्होंने ऐसा ही किया , अगले दिन से उन्होंने अपने खाजे के द्वार खोल दिए . धन लेने की लालशा में राज्य के लोग आए ही पर राज्य के बाहर से भी लोग आए ,  बड़ी लम्बी लाइन लगी .  लाइन में सबसे आगे एक फकीर खड़ा था , जब खजाने का द्वार खोला गया तो फकीर को लोगे के चेहरे के भाव देख बड़ी ख़ुशी हुई उसने अपने से पीछे वाले व्यक्ति को आगे कर दिया , की तुम पहले ले लो मैं बाद में ले लूँगा .. ऐसे ही वो फकीर अपने से पीछे वाले को आगे करता रहा और खुद ही पीछे जाता रहा .
एक दिन बीत गए , प्रजा खुश थी . दुसरे दिन भी वैसा हुआ . फकीर सबसे पहेल line में खड़ा …

मासिक धर्म के दिनों में छुआछुत मानने की प्रथा - Practice of treating menstrual in HINDI

मासिक धर्म (period) के दिनों में छुआछुत मानने की प्रथा - In the practice of treating menstrual in HINDI

मसिक धर्मो या periods के दिनों में स्त्री को हेय (disdainful) दृष्टि से देखा जाता है और उससे अछूतों जैसा व्यवहार किया जाता है . हमारे देश में menstruate महिला को अस्प्रश्य (untouchable) माना जाता है . Jain , मारवाड़ी और दक्षिण भारतीय महिलाओं के नजरिए से periods के दौरान स्त्री का शरीर पवित्र  नहीं रहता .

कपड़े और खाने-पिने की चीजें उसे मनाही होती है . आचार बनाना , बड़ी , पापड़ बनाना , आचर पर परछाई पड़ना , नहाना , बाल धोना , exercise करना , swimming करना , संभोग करना , आँखों में काजल लगाना , दिन में सोना , पानी को छूना , रस्सी कूदना , hard work करना , हँसना , खेलना , जैसे काम करना भी उनके लिए restricted है . पूजा करने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता .

पुराणपंथी महिलाओं की मान्यता तो यहाँ तक है कि periods वाली स्त्री के हाथ का भोजन खाने से पुरुष की उम्र घट जाती है . ऐसी स्त्री को अलग बिस्तर पर सोना पड़ता है . अलग बर्तन में खाना और उसे खुद मांजने का नियम है . कहीं-कहीं घर के सारे कपड़े धोना और सारे…

बच्चों को अपनी जन्म-भूमि से प्रेम करना सिखाएं - Teach your children to love the land of birth in Hindi

बच्चों को अपनी जन्म-भूमि से प्रेम करना सिखाएं - Teach your children to love the land of birth in Hindi, kaise bacche ko apne desh se pyar karna sikhaye? 

आमतौर पर कहा जाता है कि हमारे बच्चे अपने देश की संस्कृति और सभ्यता को भूलते जा रहे हैं . साथ ही यह भी कहा जाता है कि हमारे बच्चों के ह्रदय में अपनी जन्म-भूमि के प्रति वह आदर नहीं रहा , जो कि होना चाहिए था . आइए , इसके लिए हम अपने बच्चों को ये शिक्षा दें .

भारत की प्राचीन संस्कृति और सभ्यता हमारी पहचान है , हमें उसे कदाप न भूलना चाहिए .
हम कहीं भी रहें , किन्तु सदेव अपनी संस्कृति के साथ जुड़े रहें .
जननी जन्म-भूमि स्वर्ग से बढ़कर होती है . हमें अपने मात्र भूमि पर गर्व करना चाहिए .
यह देश तुम्हारा है , यह धरती तुम्हारी है . तुम्हे हर प्रकार से इसकी और इसकी गौरवमयी संस्कृति की रक्षा करनी है .
सदेव याद रखें - हर एक याद रखें कितुम हिन्दू , मुस्लिम और सिख , ईसाई बाद में हो , पहले भारतीय हो .
गर्व करो कि तुम भारतीय हो .

जब पति Importance न दे तो पत्नी क्या करे ?

Jab Pati Importance Na De To Patni Kya Kare
कितने अरमान होते है महिलाओं के दिल में कि जब शादी हो जाएगी तो उसे उसके सपनो का राजकुमार मिलेगा, सारे सपने शादी के बाद सच लगने लगते हैं. कुछ पुरे हो जाते हैं, पर कुछ सपने वही दिल में दबे रहते है. किसी ने सच ही कहा है ' सोचा हुई बात कभी पूरी नहीं होती '. शादी के बाद शुरूवाती दिनों में सब अच्छा लगता है, पति देव respect देते हैं, ससुराल में मान-सम्मान रहता है.

पर जैसे-जैसे वक़्त बीतता जाता है आपकी importance धरी की धरी रह जाती है, जिसकी वजह से आपके और आपके पति के बिच कड़वाहत आ जाती है. पति देव पत्नी को importance नहीं देते, कभी किसी काम के लिए आपसे सलह लेना जरूरी नहीं समझते. हर जगह अकेले ही जाते हैं और सिर्फ अपने माता-पिता से ही suggestion लेते हैं.
क्या आपका पति आपको importance नहीं देते ?
भरोसा
शादी के relation को एक-जुट बांधे रखने के लिए भरोसे की जरुरत होती है. अगर आपका पति आप पर भरोसा नहीं करता, तो भी आपको importance नहीं देगा.
माँ का लाडला
जैसे आप अपने घर छोड़ कर नई जिंदगी की शुरूवात करती है, वैसे ही आपके सास-ससुर अपने बेटे को आपको सौप देते ह…

कैसे Self-Controlled बनें ?

कैसे Self-Controlled बनें ? kaise khud ko control kare ? Khud ko kabu me kaise kare ?
आत्मसंयम यानि self-control न होने के कारण असंख्य व्यक्तियों के जीवन नष्ट हो चुके हैं . उनमें ऊँचे महत्वकांक्षाएं (ambitious) थी , विशिष्ट योग्यता (distinction) थी , उच्च-शिक्षा भी प्राप्त की थी , परन्तु वे खुद को वश में नहीं रख पाते थे , इसलिए वह सब कुछ व्यर्थ को गया . वे व्यक्ति होनहार थे , सभी को उनका भविष्य उज्जवल प्रतीत होता था , किन्तु उनमें अपने को वश में रख पाने की सामर्थ्य (ability) न थी , इसीलिए उनका जीवन व्यर्थ हो गया .

अनेक व्यक्ति क्रोधावेश में मनुष्य नहीं रह जाते , राक्षस बन जाते हैं . एक व्यक्ति जब क्रोध में आ जाता था , तो उस समय उसके सामने जो चीज आ जाती , उसे फेककर तोड़ देता था . वह प्राय: सभी से गली-गलौच पर उतर आता , जो उसे शांत करना चाहते , वे भी उसके क्रोध के शिकार बन जाते . परिचित व्यक्ति उनसे दूर भाग जाते . वैसे वह सचेतन मन से किसी पर क्रोध न करना चाहता था . क्रोध का उबाल उतर जेने पर वह निढाल और बेबस हो जाता , हालांकि वह स्वस्थ ओए तगड़ा व्यक्ति था .

चरित्र का उत्तम निष्कर्ष आत्मसयम है …

कान का बहना - Otorrhoea Treatment in Hindi

कान का बहना - Otorrhoea Treatment in Hindi, kaan ka behna kaise roke, kaan behne par kya kare, kaan behne ke gharelu ilaj, kaan bahne ka ilaj.. 
तुलसी के पत्तों का रस , अदरक का रस शहद , कड़वा तेल समान मात्रा में मिलाकर उसमे जरा सा सेंध नमक पीसकर मिला लें , इसको शीशी में भरकर रख लें . इसे जरा गर्म करके 2-2 बूंद कानों में टपकाने से कान बहना और पकना ठीक हो जाता है .


अगर किसी बच्चे का कान बहता हो , तो लहसुन के साथ नीम की दस-बारह कोपलें या पांच-सात पत्तियां भी पानी में उबालें . उसके बाद जिस तरफ का कान बहता हो , उसमें रात को सोने से पहले एस पानी की दो-तीन बूंदें डालें और रुई लगाएं . . इससे काम का बहना बंद हो जाता है . जब तक पूरी तरह आराम न हो जाए , प्रतिदिन यह क्रिया करते रहें .



नींबू के रस में सज्जीखार (saltpeter) मिलाकर कान में डालने से कान का बहना बंद हो जाता है .

दस ग्राम लहसन को छह ग्राम सिंदूर के साथ पीसकर , सौ ग्राम सरसों में डालकर अग्नि पर पकाएं . जब तेल आधा रह जाए , तब उतारकर छान लें और कांच की किसी शीशी में भर लें . इसकी दो तीन बूँदें दिन में दो-तीन बार कान में टपकाने से कान बहना बंद ह…

मुंह की दुर्गन्ध भगाए आजमाए ये 8 घरेलु टिप्स

मुंह की दुर्गन्ध भगाए आजमाए ये 8 घरेलु टिप्स, hum ki badbu ka gharelu ilaj, muh se badbu aaye to kya kare? kaise muh ki badbu dur kare ?

भोजन के पश्चात दोनों समय आधा चम्मच सौफ चबाने से दुर्गन्ध जाती रहती है और पाचन क्रिया भी ठीक हो जाती है .

तुलसी के चार पत्ते नित्य प्रात: खाकर , ऊपर से पानी पिने से भी मुंह की दुर्गन्ध दूर हो जाती है .



एक गिलास पानी में एक नींबू का रस मिलाकर प्रात: कुल्ले करने से मुख की दुर्गन्ध दूर हो जाती है .

भोजन करने के बाद एक लौंग मुंह में रखकर चूसने से मुंह से दुर्गन्ध आनी बंद हो जाती है .

चार ग्राम अनार के पिसे हुए छिलके की फंकी सुबह-शाम पानी से लेने से दुर्गन्ध दूर हो जाती है . छिलके को उबालकर कुल्ला करने से भी लाभ होता है .

जीरे को भुनकर खाने से भी मुंह की दुर्गन्ध समाप्त हो जाती है .

हरा धनिया खाने से मुंह में सुगंध रहती है . भोजन के पश्चात थोड़ा सा हरा धनिया अवश्य चबाना चाहिए .

एक चम्मच अदरक का रस , एक गिलास गरम पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह की दुर्गन्ध जाती रहती है .

हमेशा खोजते रहें अवसर - Always Explore Opportunities Self Improvement Tips In Hindi

हमेशा खोजते रहें अवसर - Always Explore Opportunities Self Improvement Tips In Hindi
वास्तव में सफल व्यक्ति के लिए जीवन में अवसर की प्रतीक्षा और कार्य करने की योग्यता होना अत्यंत आवश्यक है . ये दोनों ही बातें जिसमें होंगी , वह बहुत ऊपर पहुँचता है . बेहतर यही है कि अवसर की प्रतीक्षा न करके आपको खुद उसका निर्माण करना चाहिए . आप भी उसी प्रकार उसका निर्माण करें , जिस प्रकार झोपड़ी में पैदा होने वाले लिंकन के लिया . उसी प्रकार अवसर का निर्माण कीजिए , जैसे अपने खेतों में साँझ के झूटपुटे में हेनरी विल्सन ने किया . उस समय उसने ऐसी हजारों किताबें पढ़ डाली , जिनके संबंध में उनकी आयु के बच्चे सोच भी नहीं सकते और सांयकाल (evening) का समय नष्ट कर देते हैं .

जो व्यक्ति प्रयत्न कर सकता है , जिसमे किसी कार्य को सम्मान करने की इच्छा और अभिलाषा है , वह अपने लिए अवसर का निर्माण अवश्य कर सकता है . आलसी व्यक्ति यदि सुनहरा अवसर प्राप्त करेगा भी , तो भी उसे कोई लाभ नहीं पहुंचेगा . यदि आप अवसर ग्रहण करने के योग्य नहीं हैं , तो ऐसी स्थिति में बड़े से बड़े अवसर भी आपको उपहास का पात्र बना सकते हैं .

योग्य व्यक्तियों के…

मासिक धर्म में रक्तस्राव क्यों होता है ? - Why would menstrual bleeding ? in Hindi

मासिक धर्म में रक्तस्राव क्यों होता है ? - Why would menstrual bleeding ? in Hindi, period hone par khoon kyu nikalta hai?, period me khun kyu nikalta hai?

किशोरावस्था सुरु होने के साथ ही स्त्री योनी से जो स्राव (secretion) होता है , उसे मासिक धर्म या periods कहते हैं . हर स्त्री के लिए यह एक बहुत जरुरी प्राकृतिक क्रिया है , क्योंकि उसके health , beauty और शांतन सुख का इससे गहरा सम्बन्ध होता है . स्त्री जीवन पर भी इसका इसके नियमीय या अनियमित होने का बहुत प्रभाव पड़ता है .

स्त्री को माशिक धर्म (period) आना इस बात का signal है कि उसके प्रजनन संबंधी अंग पुष्टता (muscularity) को प्राप्त हो रहे हैं और अब वह सन्तानोंत्पादन के योग्य बनने जा रही है . आम्टु पर दो माशिक धर्म (periods) के बिच 28 दिनों का अंतर होता है , लेकिन यह अंतर कम या ज्यादा दिनों का भी हो सकता है .

मासिक धर्म (periods) में स्राव 3-4 दिनों तक होता है . किसी-किसी को 5-6 दिनों तक भी स्राव आ सकता है . एक दिन में स्राव 50 से 100 ml तक होती है , इसकी मात्रा कम या ज्यादा हो सकती है . शुद्ध स्राव का रंग कुछ कालापन लिए हुए लाल होता है ,…

बड़े होके क्या बनोगे ?

[caption id="" align="aligncenter" width="542"] बड़े होके क्या बनोगे ?[/caption]


आज के अति विकसित व भौतिकवादी युग में हर एक व्यक्ति खुद भी तथा अपने बच्चों को भी उच्च शिक्षा पाने का यह मतलब निकाला जाता है कि उससे उनके तथा संतान का जीवन अत्यन्त सुखदायी होगा , विदेश जाने का अवसर मिलेगा , बहुत साडी सुविधायें मिलेंगी , सभी सुविधाओं व सजावटों से भरा आलिशान बंगला होगा , चलने फिरने व सैर सपाटे को बढ़िया करें दरवाजे पर खाड़ी होंगी , नौकर चाकर कार्यालय व घर पर हर समय सेवा के लिए तत्पर होंगे , यार दोस्त गपशप के लिए होंगे . बड़े-बड़े उच्च अधिकारीयों व राजनेताओं से दोस्ती होगी , पंच सितारा होटलों में सुस्वादु भोजन व भरपूर मनोरंजन की पार्टियों में भाग लेने को मिलेगा , जितने चाहें जैसे चाहें वैसे भोग भोगने व सुख मनाने का अवसर मिलेगा , लोगों में प्रतिष्ठा होगी , चारों ओर उनका नाम होगा , जिधर कदम रखें उधर ही सलाम करने वाले लोग होंगे , सभी लोगों पर उनका रौब रहेगा , जिससे जो कुछ कहा जाए वह हाथ जोड़े उसे करने को तैयार रहेंगे , इत्यादि .


ऐसे अनेको मंसूबों को बांधे हुए लोग उच्च शिक्षा…

शरीर में तिल क्यों निकलते हैं ? - Why mole appears in body ? in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="545"] शरीर में तिल क्यों निकलते हैं ? - Why mole appears in body ? in Hindi[/caption]


तिलों के बारे में प्राचीन अंध-विश्वास है कि बच्चा पैदा होने से  पहले , माता के किसी प्रकार डरने पर बच्चे के शरीर पर तिल उभर आता है . लेकिन इसे  केवल अंधविश्वास ही कह सकते हैं , तिलों को जन्मचिन्ह समझा जाता है क्योंकि तिल जन्म के समय या उसके शीघ्र बाद ही शरीर पर उभर आते हैं .
ये आश्चर्य की बात है लगभग हर व्यक्ति के शरीर में एक तिल अवश्य पाया जाता है . कभी-कभी तो दस से पंद्रह तिल याक एक व्यक्ति के शरीर में पाये जाते हैं . तिल टिशु के बढ़ने से बनते हैं . ये टिशु कोई से भी हो सकते हैं . कभी ये खून की नालियों के टिशु होते हैं , तो कभी ये बालों के अणुओं के तथा कभी किसी और प्रकार के भी होते हैं .
तिल दो कारणों से अच्छे नहीं समझे जाते . एक तो कभी-कभी तिल बढ़कर cancer का रूप भी धारण कर लेता है , लेकिन ये बहुत ही कम होता है .
दुसरे तिल कभी-कभी ऐसे स्थान पर होते हैं जो देखने में बुरे लगते हैं जैसे चेहरे पर बड़ा सा तिल कभी-कभी बहुत भद्दा लगता है . …

School Ka Pyar - School Love..

[caption id="" align="aligncenter" width="473"]School Ka Pyar - School Love..[/caption]


School me pyar ? par school me to hum padhne jate hai . Teenagers ki dahlij par kadam kahte huye hum apne school ke sathiyo ke sath rahte hai , shrir me pariwartan hume dusro ke prati aakarsit karta rahta hai , chahe ladki ho ya koi ladka ish umar me unka dil kisi na kisi ke liye dharakne lagta hai . Lagbhag 72% logo ko pehla pyar school life me hi hota hai . Jiski wajah sirf ye hai ki hum opposite sex prati attract ho jate hai , kyonki hum us age me hote hai jaha hum love ke bare me janana chahte hai . Chahe wo apni class-mate ho ya humse junior pyar to ho jata hai .To aaiye jane ki school me kaise hota hai pyar -

Naam se ho jata hai pyar - Jise hum pyar karne lagte hai uska naam or mera naam same latter se suru hota hai , aisi choti se baato se bhi ladki/ladkiya prabhawit hote hai . Apne or usne is naam ko ek jaisa samajhte hai .
Roll number - Yar us ladkika roll number…

Muhase dur karne ke 8 tips

Muhase dur karne ke 8 tips
Teenage me body me hone wale hormonal change ke kaaran chehre par lal dhabbe dikhai dene lagte hai , jinhe ' sebum ' kahte hai . Oily skin ke karan ye sebum ful jate hai , or muhase bankar chehre ka roop-soundary ko kuroop bana dete hai . in muhaso se nipatne ke liye apnaye ye tips -


Fryed food , tel wale food , masaledar khana bilkun na khaye .
Jyada pani piye . Pet saaf rakhe .
Market me available saste beauty producte or beauty creams jyada istemal na kare .
Face ko dhoop , mitti , pollution , dhuye se bachaye .
Ghar me chandan , khire , neem ke patte , tulsi ke patte se bana lep raat ko sote samay lagaye .
Muhaso par hath na lagaye , na hi inhe nakhun lagaye or na hi haatho se ragade 0.0
Din me 4 bar apna chehra ko thande pani se dhoye .
Face dhone ke bad halke haathose sukhaye or kisi bhi acchi anti-bacterial cream ka use kare .

Motapa Kam Karne Ke 10 Tips

[caption id="" align="aligncenter" width="272"] Motapa Kam Karne Ke 10 Tips[/caption]

Obicity yani motapa ladkiyon ka sabse bada dusman hai . Yah na keval shrir (body) ki sundarta ko bigadta hai , balki jivan ki anya kaamo ko bhi prabhawit karta hai . Yah ek prakar se shrir me energy ki marta ko adhikta me dikkhlata hai . Motape ki wajah se ladkiyo ke vivah me bhi badha aati hai , kyonki motapa shrir ke attraction ko hi khtam kar deta hai . Ladkiyo ke samne marriage ke liye ' napasnad ' ki situation aane ka pramukh kaaran motapa hota hai . 



1. Healthy Food Khaye


Slim or perfect body sabko attractive lagta hai . Iske liye jaruri hai ki bina fat (charbi) wale or santulit bhojan (balanced food) kare , jarurat ke anusar exercise kare . Healthy shrir unhi ke hte hai jo apne khane-pine me control karte hai, control karne ka matlab hai ki healthy bhojan karna. Motapa kahbhi bhi aapko healthy nahi bana sakta, isliye healthy khana khaye taki aapka shrir healt…

सुन्दर विचारों का दान करना की महा दान है - Donation of good thought is the great donation

[caption id="" align="aligncenter" width="507"] सुन्दर विचारों का दान करना की महा दान है - Donation of good thought is the great donation[/caption]


जैसे शरीर जल (water) से पवित्र (pure) होता है, वैसे ही हमारा -आपका  मन (mind) भी प्रभु (god) और ध्यान रूपी जल में स्नान (bath) करने से पवित्र (pure) होता है. स्नान के बाद लोग कुछ दान (donation) भी करते हैं, ऐसे ही ऐसा करने के बाद तुम कुछ दान भी दो. रूपए-पैसा तो बहुत से लोग दान करते हैं, परन्तु (but) तुम सुन्दर विचारों (good thoughts) का दान करो.

यह सबसे श्रेष्ठ दान (best donation) है. संसार को इसी दान की सबसे अधिक आवश्यकता (requirement) है. संसार आज इसी के बिना अत्यंत दुखी है, अशांत है.

जहाँ जिस देश (country) में सुन्दर विचार अधिक होते हैं, वही देश धनवान और सम्पन्न (developed) माना जाता है. जिस देश में सोना-चांदी, बहुत हो, भोग-विलास (luxury) की विस्तुएं अधिक हों, परन्तु सुन्दर विचारों (good thoughts) की कमी हो, वह देश दुख ओए अशांति का घर बन जाता है.

क्या तुम जानते हो कि ऐसा क्यों हो जाता है ? किसी महात्मा ने कहा…

Bolne Ki Kala

Bolne Ki Kala, kaise baat kare? baat karne ka tarika..
Communication ka sabse behtarin jariya hai baat karna , agar baat karne ka dhand pata na ho to bade se bada rishta bigadne me der nahi lagti chahe wo pyar ka rista ho , pariwarik rishta ho ya fir dosti ka rista ho . Kab kya bole or kiske sath kaisa baat kare ye janana behad jaruri hai , pehli bar jab hum kisi se milte hai to baaton se hi pata chal jata hai ki wo insan kaisa hai , ya yun kahe ki hamari boli hamare sanskaro ka darpan hai to sahi hoga . Ye sahi bhi hai kyon ki aapki boli relation ko bana bhi sakti hai or bigad bhi sakti hai . Aaj hum acchibaat.com par isi bare me baat karenge , or janege ki kaise apni boli ko apne kabu me rakhe -
Kharab Boli -
Kuch log aise bhi hote hai jo sirf apne aap me hi rahte hai , wo kabhi kisi ke bare me nahi sochte or yahi wajah hai ki unki boli contol me nahi rahti . Bakar bakar karte rahte hai , bekar ki baatain karte hai ... Khrab boli ka parinam-

Relation me duriya aati hai .
Koi aapki baaton…

दिखावे की कीमत - Motivational story in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="507"] दिखावे की कीमत - Motivational story in Hindi[/caption]


एक बहुत सुन्दर हरा-भरा वन था और वन के एक किनारे पर सुरम्य सरोवर था . उस सरोवर में बहुत से हंस रहते थे . उन हंसों के राजा का नाम हंसराज था . वन में भी बहुत से पक्षी रहते थे , उन्ही में एक था कनकाक्ष नमक उल्लू . उस उल्लू और हंसराज की अच्छी मित्रता थी .

उल्लू ने भी हंसराज से कह रखा था कि वह उल्लुओं का राजा है , जबकि ऐसा था नहीं . इसलिए उसके मन में सदेव यह विचार रहता था कि वह कुछ ऐसा करे कि हंसराज को विश्वास हो जाए कि वह वास्तव में राजा है .



उल्लू वन में एक पेड़ के कोटर में रहता था . एक दिन उस पेड़ के पास राज्य के सेनिकों ने खेमा गाड़ दिया . उनके राजसी ठाटबाट देखकर उल्लू दंग रह गया और उसने यही उचित अवसर समझा . उसने मन में था कि हंसराज को यहाँ लाकर ऐसा दर्शाउंगा कि जैसे ये मेरे ही आदमी हैं . हंसराज मेरा वैभव देखकर अवश्य प्रभावित हो जाएगा . इसलिए उल्लू हंसराज को बुलाने चल दिया .
उल्लू जब सरोवर के किनारे पहुंचा तो हंसराज अपने साथियों के साथ जलक्रीडा में मग्न था . जब उ…

दिमागी ताकत कैसे बढ़ाएं - How to improve brain power in Hindi

दिमागी ताकत कैसे बढ़ाएं - How to improve brain power in Hindi, dimag ki takat kaise badhaye, dimag kamjor ho to kya kare, dimag ki takat badane ka gharelu tarika.. 


एक किलो गाजर कद्दूकस कर , चार किलो दूध में पका लें . फिर उसमें एक पाव देशी घी और दस बादाम डालकर भुने और कांच के बर्तन में भरकर रख लें . रोजाना पचास ग्राम खाकर ऊपर से दूध पी लें . एक महीने खाने से दिमाग को ताकत मिलेगी .

एक सेब को आग में जलाकर पानी के घड़े में डाल दें . इस पानी को छानकर पीयें .



सुखा धनिया , खसखस के दाने दोनों समान मात्रा में ले कर कूट-पिस कर माहीं चूर्ण बना लें . इसके बराबर वजन की मिश्री लेकर पीसकर इसमें मिला लें . एक-एक चम्मच की मात्रा में प्राय 9 बजे व भोजन के बाद रात को 9 बजे गुनगुने गर्म मीठे दूध या पानी के साथ नियमपूर्वक सेवन करें . इसके सेवन से स्मरण शक्ति , नेत्र ज्योति और गहरी निंग उपलब्ध होती है .


कैसे बढ़ाएं प्यार - How To Boost Love, In HINDI

कैसे बढ़ाएं प्यार - How To Boost Love, In HINDI
प्यार का रिश्ता बड़ा नाजुक होता है . एक दुसरे से प्यार की उम्मीद हमेसा बनी रहती है . जब पहला प्यार होता है तो हम सपने देखने लगते है . प्यार मिलता है पर वो सपने जो हमने देखे थे क्या वो पुरे होते है ?
बातों का सिलसिला जरी रहता है , पर एक वक़्त ऐसा आता है जब कहने को कुछ बाकि ही नहीं रहता .. सिर्फ सुबह में good morning wishes और रात में good night कहना रह जाता है ... और हमारे सपने यही तक ही सीमित रह जाते हैं , इसकी वजह , प्यार में नयेपन का होना और वही घिसी-पिटी बातें करना जिसे कहने और सुनने से ही हमरा temperature बढ़ जाता है .
कैसे अपने प्यार की खुसबू को कायम रखा जाए ?
कैसे अपने प्यार को बढ़ाया जाए ?
कैसे अपने प्यार में नयापन लाया जाए ? ... आइए जाने इसके बारे में
हमेसा एक ही तरीके से बातें न करें -
' जो तुमको हो पसंद वही बात कहेंगे , तुम दिन को अगर रात कहो , रात कहेंगे ' कुछ इस तरह बातें करें कि आपके partner चकित हो जाएँ की आपको हुआ क्या है , थोड़ा रूमानी अंदाज लाएं , थोड़ा रोमांटिक मूड बनाए ... आमतौर पे देखा गया है कि long relation में रहने के …

बच्चों का जिद्दी स्वभाव - Children's stubborn nature in Hindi

बच्चों का जिद्दी स्वभाव - Children's stubborn nature in Hindi, baccha bahut jid karta hai kya karu, baccha bahut jiddi hai, bacche ki jid ki aadat, baccha jid kare to kya kare?

बच्चे स्वभाव (nature) से ही शरारती होते हैं , यह सच है . लेकिन यब भी सच है कि कुछ बच्चे स्वभाव से ही जिद्दी होते हैं . आपने कभी सोचा है कि कुछ बच्चें जिद्दी स्वभाव के क्यों होते हैं ?

इसमें माता-पिता ही भूमिका सबसे ज्यादा होती है . ऐसे भी माता-पिता होते हैं , जिनके लिए अपने बच्चों से प्यारा और कोई नहीं होता . भले ही गलती अपने बच्चे की हो , लेकिन उसके लिए वे अपने दोस्तों और परिवार के लोगों से भी झगड़ बैठते हैं .

उसका बच्चा अगर कुछ बुरा भी करता है , तो तो उनके लिए वह बुरा नहीं होता बल्कि अच्छा ही होता है . क्या मजाल जो किओ दूसरा उनके बच्चे की ओर उंगली उठा सके अथवा उसे कुछ कह सके .

ऐसे माता-पिता अपने बच्चे की हर उचित अनुचित मांग को पूरा करते हैं और इन सब बातों का परिणाम यह होता है कि उनका बच्चा जिद्दी बन जाता है .

ऐसे माता-पिता के बच्चे कितने जिद्दी होते हैं , इस सम्बन्ध में कई उदाहरण आपने अपने आस -पास देखे होंगे . …