Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2016

अपना गुस्सा बच्चों पर न उतारें - Not float your anger on children Parenting Tips in Hindi

अपना गुस्सा बच्चों पर न उतारें - Not float your anger on children Parenting Tips in Hindi, kabhi bhi apne baccho par apna gussa na utare..

आज के इस युग में ऐसे बहुत कम व्यक्ति हैं ,जो stress free life जीते हैं . अन्यथा जिसे देखिए वही problems से घिरा है . और ये problems ही तो होती है जो इंसान को stressful रखती हैं . लेकिन यह कहना गलत होगा कि आपके problems के करण पैदा हुई गस्से को अपने बच्चों के ऊपर उतारें . आप अपने काम से लौटते हैं . ठीक है , थके हारे होते हैं . न जाने कितनी problems से जूझे हैं आप पुरे दिन .

लेकिन आपके नन्हे मुन्ने , आपके प्यारे बच्चे .... वे तो आप से प्यार-दुलार की आशा लगाए बैठे हैं . जबकि आपका behavior होता है उनकी आशाओं के विपरीत .

बच्चे अपने होंठो पर smile और आँखों में प्रसन्नता की चमक लिए आपके निकट आते हैं और आप !
' तुम लोग आराम से नहीं बैठ सकते '
' आते ही सर पे सवार हो जाते हो '
' जाओ , बाहर खेलो '
' इतना भी नहीं देखते कि दिन भर files में सर खपाया है . थका-हरा लौटा हूं . '

बच्चे सहम जाते है .
होंठों पर फैली smile गायब हो जाती है .
आँखों मे…

हर मोड़ पर उठते सवाल बचपन से बुढ़ापे तक - From childhood to old age question occur at every turn in Hindi

हर मोड़ पर उठते सवाल बचपन से बुढ़ापे तक - From childhood to old age question occur at every turn in Hindi
आज का समय बड़ी तेजी से बदल रहा है . इसका असर महिलाओं के जीवन पर भी पड़ रहा है . उनके जीवन में कई बदलाव आ रहे हैं . बचपन से बुढ़ापे तक महिलाएं कई समस्याओं का सामना करती हैं . रोज-रोज की भाग-दौड़ वाली जिंदगी में उनके जीवन में कई मोड़ आते हैं .

हर मोड़ पर उनके मन में कई सवाल उठते हैं . बड़ी होने पर वह सोचती है - क्या शादी के मामले में वह खुद फेसला कर सकती है ? रस्ते चलते कोई पुरुष उसके साथ छेड़छाड़ करे तो उसे क्या करना चाहिए ? दिहाड़ी (daily wages) पर मालिक पूरी तनखाह (salary) न दे , या भेदभाव करे , तो वह उससे कैसे निपटे ? क्या पुलिस उसकी मदद करेगी ? क्या कानून मदद करेगा ?
बेटी की माँ की हालत और भी परेशानी से भरी रहती है .
दहेज़ को लेकर बेटी की हालत क्या होगो - इस बात का डर उसे दिन-रात सताता रहता है . अगर ससुराल में बेटी के साथ मार-पिटाई हुई तो ? परेशान होकर बेटी आत्महत्या (suicide) कर ले तो ? या उसे जलाकर मार डाला गया तो ? ऐसी हालत में माँ-बाप कर करें ? किसकी मदद लें ? क्या कानून मदद करेगा ?

अख़बारों …

आदमी ही बने रहो - Be Man, in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="459"]आदमी ही बने रहो - Be Man, in Hindi[/caption]


आदमी बने रहने ठीक (fine) है. कुछ और बनने में बड़ा खतरा (danger) है. यदि हमने किसी नाम की तख्ती (name plate) लटका ली और उसके अनुरूप (according) आचरण (manner) नहीं बन पड़ा तो सत् स्वरूप हमारी आत्मा (true form of soul) हमें कोसेगी. वह हमें मिथ्याचारी (hypocrisy/mischievous) कहेगी.

अन्दर से कुछ और बाहर से कुछ यह बहुत मिथ्याचार (hypocrisy/mischievous) है. बहुत बड़ा पाप (guilt) है. सत् (truth) और धर्म यह दोनों पर्यायवाची शब्द (synonym words) है. धर्म (religious) न कोई पंथ (creed) है न कोई संप्रदाय (community). यह कोई बाहरी आडंबर (external pomp) भी नहीं. इसका सीधा सम्बन्ध अन्तरात्मा (inner sprite) से है. सत्  आचरण (true manner) से है. मिथ्या व्यवहार (false behavior) या छलावा (illusion) ही अधर्म है और सत् व्यवहार (true behavior) ही धर्म है.

धर्म वह है जो इंसान को इंसान की तरह रहना सिखाये, सबसे सहानुभूति (sympathy) और परम का पाठ (lesson) पढाये. न केवल मनुष्य के प्रति बल्कि प्रत्…

10 अमूल्य उपदेश - 10 Precious Advice, in Hindi

[caption id="attachment_24489" align="aligncenter" width="439"] 10 अमूल्य उपदेश - 10 Precious Advice, in Hindi[/caption]

1. ईश्वर (god) तो एक शक्ति (power) है, न उसका कोई नाम है न रूप (shape/look) है. जिसने जो नाम रख दिया वही ठीक है .

2. उसको प्राप्त (obtained) करने के लिये गृहस्थी त्याग (family sacrifice) कर जंगल में भटकने की आवश्यकता (requirement) नहीं, वह घर में रहने पर भी प्राप्त (obtain) हो सकता है.

3.अभी तुमने ईश्वर (god) देखा नहीं है, इसलिए उसे प्राप्त (obtain) करने के लिये पहले उससे मिलो जिसने ईश्वर (god) को देखा है. वही तुम्हे ईश्वर (god) के दर्शन करा सकता है.




4.अपने जीवन में आन्तरिक प्रसन्नता (inner happiness) लाओ. यह बहुत बड़ा ईश्वरीय गुण (divine quality) है.

5.ज्ञान (knowledge) में शान्ति (peace) है. उसके लिये आन्तरिक साधन करने होंगे.

6.अधिक समय तुम संसार के कर्मो (work) में लगाओ, थोड़ा समय तुम इधर दो. लेकिन इस समय के लिये तुम संसार को भूल (forgot) जाओ.

7. दो काम साधक (performer) के लिए बहुत ही आवश्यक (important) है - एक तो अपने परिश्रम (hard work) से …

बेवफाई के बाद कैसे सुधारे रिश्ते को ? - How to improve the relationship after infidelity ? in Hindi

बेवफाई के बाद कैसे सुधारे रिश्ते को - How to improve the relationship after infidelity in Hindi, breakup ke bad kaise rishte ko fir se naya banaye, toote huye rishte ko kaise jode?

अक्सर रिश्ते में धोखा खाने व विश्वासघात होने पर पीड़ित व्यक्ति बिखर जाता है , टूट जाता है . Life partner की बेवफाई के बाद किस तरह अपने रिश्ते को revise करें और सुधारें , इन्ही बातों को जानने की कोशिश करते हैं .

सबसे पहले खुद को आत्मविश्लेषण करें कि आखिर गलती किससे और कहां हुई ?

कोई यूं ही नहीं भटक जाता . पर्याप्त attention व care न मिलने पर partner उसकी कमी दूसरों की नजरों में खास बनकर पूरी करने की कोशिश करने लगते हैं . यदि ऐसा हुआ हो , तो उन गलतियों से सबक लें और आगे बढ़े .

अगर आपको लगता है कि जाने-अनजाने में आपने अपने partner की अनदेखी की है , तो इसे नए सिरे से दुरुस्त करने की कोशिश करें .

अगर आप भी किसी परस्त्री या परपुरुष से जुड़े हैं , तो पहले खुद को उससे आजाद करें , क्योंकि किसी तीसरे के रहते आप अपने जीवनसाथी से सहज व सच्चाई के साथ दोबारा नहीं जुड़ सकते और न ही अपने दांपत्य जीवन को मजबूती प्रदान कर सकते है .

मा…

Home-made Fairness Scrub Beauty Tips In Hindi

 Home-made Fairness Scrub Beauty Tips In Hindi, chehre ke liye ghar me kaise scrub banaye, scrub kaise banaye, scrup banane ke gharelu upay

एक कप चाय का पानी , 2 टेबलस्पून चावल का आटा और आधा टेबलस्पून शहद (honey)मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं और चेहरे पर . 15 मिनट बाद एक और layer लगाएं . 25 मिनट बाद चेहरा धो लें . चेहरे पर instant निखार आ जाएगा . अगर आपकी skin को scrubbing की जरुरत है , तो चेहरा धोते समय हल्के हांथो से मसाज करें .
ओट्स को पका लें . इसमें निम्बू का रस , ग्लिसरीन और पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें . चेहरे को अच्छी तरह clean करके ये pack लगाएं . 25 मिनट बाद scrubbing करते हुए चेहरा धो लें . इससे fair complexion तो मिलेगा ही , अनचाहे बालों ओए acne से भी छुटकारा मिलेगा .
एक टेबलस्पून बेसन में एक टेबलस्पून निम्बू का रस और आधा टीस्पून हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर लगाएं , सूखने पर rub करते हुए धो लें .


इजी टिप्स - Easy Tips


चेहरे हो हमेशा clean रखें . दिन में कम से कम तीन बार चेहरा धोएं .
Cleansing , moisturizing और toning को अपने skin care routine में शामिल करें .
हफ्ते में दो बार scrub करे…

50 Homemade Fairness tips in Hindi

50 Homemade Fairness tips in Hindi, ghar baithe gora one ke 50 home made tips, gora hone ke 50 upay

1. चेहरे पर नींबू रगड़े . इससे न सिर्फ आपके चेहरे पर glow आयेगा , बल्कि इसका bleaching agent आपको fair भी बनाएगा .

2. चेहरे पर आलू का रस लगाएं .

3. केले को मसलकर चेहरे पर लगाएं . 10-15 मिनट बाद चेहरा धो लें .

4. पपीते का pulp चेहरे पर लगाएं . ये गोरापन तो देता ही है , dead skin को repair भी करता है .

5. निम्बू और ककड़ी का रस समान मात्रा में मिलाकर लगाएं . वे oily skin वालों के लिए perfect है .

6. अंडे की सफेदी चेहरे पर लगाएं .

7. संतरे के छिलके सुखाकर पिस लें . इसमें दूध मिलाकर चेहरे पर लगाएं .

8. नियमित रूप से दही लगाने से भी रंगत निखरती है .

9. शहद (honey) और निम्बू का रस समान मात्रा में लेकर चेहरे पर लगाएं . 10 मिनट बाद चेहरा धो लें .

10. बादाम का तेल ओए olive oil लगाने से भी skin fair होती है .

11. निम्बू का रस , हल्दी पाउडर , शहद , इमली इन सबमें natural bleaching agent होता है . इन्हें apply करने से skin tone में निखार आता है .

12. 1 टेबलस्पून शहद और 2 टेबलस्पून बादाम पाउडर में आधा टीस्पून निम्ब…

महिलाएं कैसे-कैसे खेलती हैं ब्रेन गेम ? - How Women Play Brain Games ? In Hindi

कहा जाता है कि नारी मन और दिमाग को ईश्वर भी नहीं समझ पाए , तो इन्सान की क्या बिसात . यह तो हुई दिल्लगी की बात , पर महिलाओं की बहुमुखी प्रतिभाओं को दरकिनार नहीं किया जा सकता . एक स्त्री जिस तरह कई कार्यों को एक साथ बखूबी करती है , उसी तरह उसका दिमाग भी है . उसका mind जाने कैसे-कैसे खेल खेलता है . वैसे ये brain game काफी दिलचस्प भी होता है . खसतौर पर partner या पुरुषों से अपनी बात मनवाने और काम निकलवाने में ये अक्लमंद दिमाग computer से भी तेज़ काम करने लगता है . देखते है women brain game की झलकियाँ .
महिलाएं कैसे-कैसे खेलती हैं ब्रेन गेम ? - How Women Play Brain Games ? In Hindi
भोली मासूम बन जाना
यूं तो महिलाओं को independent कहलाना काफी पसंद है , लेकिन जब भी उन्हें अपना कोई रुका हुआ काम पुरुषों से करवाना या फिर मतलब साधना होता है , तो वे भोली-मासूम बन जाती है . उनके चेहरे से लाचारी-बेचारगी टपकने लगती है और उनका भोला-भाला , मासूम चेहरा पुरुष को पिघला देता है और वे उनका काम करने के लिए बेसब्र हो जाते हैं .
इन्तेजार करवाना
दुनिया में शायद ही कोई लड़की होगी , जिनसे अपने boyfriend या पति को इन्ते…

भारत में इतनी भ्रष्टाचार क्यों ? - Why so much corruption in India ? in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="471"] भारत में इतनी भ्रष्टाचार क्यों ? - Why so much corruption in India ? in Hindi[/caption]


एक भाई ने मुझसे बड़ा सुन्दर प्रश्न किया था . भारत में ईश्वर के सभी अवतार प्रकट हुए . अनेको विद्वानों का आगमन हुआ . आज भी विश्व में सबसे अधिक महात्मा , चिन्तक , धर्मचारी तथा सामाजिक कार्यकर्ता हैं . तब भी भारत में अधिक भ्रष्टाचार , सामाजिक दुष्कर्म तथा अनेतिक कार्य होते हैं , क्या कारण है ?

यदि हम इसका उचित कारण देखें तो वह है भारत की एक बहुत लम्बी गुलामी . इस लम्बी गुलामी में हम अपनी संस्कृति , अपना धर्म , अपनी भाषा और अपने को बिल्कुल भूल गये . हमें स्वतंत्रता (freedom) तो मिली लेकिन अपनी संस्कृति नहीं मिली , अपनी शिक्षा पद्धति , अपना धर्म नहीं मिला . हमने पश्चिम की ही संस्कृति तथा शिक्षा पद्धति को अपनाया , परिणाम बगुला चला हंस की चाल , अपनी चाल भी भूल गया . हम न तो पश्चिम की संस्कृति अपन पाये न अपनी . बल्कि हमने पश्चिम की संस्कृति की अच्छाइयों को छोड़कर बुराइयाँ ले लीं . अपनी बुराइयाँ तो था ही अब पश्चिमी संस्कृति की बुराइयाँ…

क्या आपका बच्चा वास्तव में अच्छा है ? - Your child is really good ? Parenting Tips In Hindi

क्या आपका बच्चा वास्तव में अच्छा है ? - Your child is really good ? Parenting Tips In Hindi, jane apne bacche ke bare me, kaise pata kare ki baccha accha hai ya bura?

मता-पिता का दिल हमेशा अपने बच्चों के प्रति अच्छा ही सोचता है चाहे बच्चा कितनी भी सरारत करें , माता-पिता अपने बच्चों पर कभी दोष नहीं देते . पुरानी कहावत है कि अपना बच्चा हर किसी को अच्छा लगता है . क्योंकि बच्चा आपका है इसलिए उसकी अशिष्टता भी आपकी शिष्टता ही नजर आएगी .

लिकिन question तो ये है कि दुसरे लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं . आप जानते हैं बच्चे की शिष्टता एवं अशिष्टता की मुख्य पहचान क्या है ? किस आधार पर आप उसे अच्छा बच्चा या बुरा बच्चा कहेंगे ?

इसका आधार होगा उसकी भाषा , उसकी भाषा-शेली और बात-चित . जी हाँ कहा जाता है कि अगर आप किसी व्यक्ति से कुछ देर बातें करेंगे तो उसके विषय में बहुत कुछ जान लेंगे कि वो व्यक्ति कितना शिक्षित है , कितना योग्य है , ये उसके मस्तिष्क पर नहीं लिखा होता , केवल उसकी बातों से ही जाना जाता है .

मान लीजिए कोई व्यक्ति आपसे मिलने आया है . वह दरवाजे पर खड़ा दस्तक दे रहा है और आपका बच्चा दरवाजा ख…

मित्र की पहचान - Identify Friend Hindi Story

[caption id="" align="aligncenter" width="640"] मित्र की पहचान - Identify Friend Hindi Story[/caption]


मगध देश में चंपकवती नाम का एक विशाल जंगल था . उस जंगल में एक कौवा रहता था जिसका दोस्त एक हिरण था , वे दोनों की दोस्ती बहुत पुरानी थी . हिरन जंगल की हरी-भरी घांस खाकर काफी ह्रष्ट-पुष्ट हो गया था . एक दिल उस हिरण पर एक सियार की दृष्टि पड़ गई . हिरन को देख सियार के मुहं में पानी आ गया , वह सोचने लगा कि कैसे इस हिरन का मांस खाया जाए , इसे मैं लड़ाई में हरा तो नहीं सकत , क्योंकि यह मुझसे ज्यादा ताकतवर है , मुझे अकल से काम लेना होगा  .

यह सोचते हुए सियार हिरन के पास पहुंचा और बोला
सियार - नमस्कार दोस्त , कैसे हैं आप ? सब ठीक तो है न ?



यह सुनकर हिरन आश्चर्य होकर बोली - तुम कौन हो ? मैं तो तुम्हे नहीं जानती ? तुम मुझसे दोस्ती क्यों करना कहते हो ?

एक साथ इतने सवाल सुनकर सियार ने जवाब दिया
सियार- मेरा नाम मर्जिक है , मारा इस जंगल में कोई दोस्त नहीं और बिना दोस्त के जीना भी कोई जीना होता है , इसलिए मैं तुमसे दोस्ती करना चाहता हूं . क्या तुम मेरी दोस्त बनोगी .

हिरन ने सियार …

मुझे कुछ कहना है - I have something to say In Hindi

मुझे कुछ कहना है - I have something to say In Hindi
मुझे अपने बड़े-बूढ़े साथियों से कुछ कहना है जिन्होंने जिंदगी का एक लम्बा सफ़र तय किया है और जिंदगी के उतार-चढ़ाव देखे है और अब हम सफर के अंतिम पड़ाव पर है . हमें इस अवस्था के कर्तव्य और धर्म जानना अत्यंत आवश्यक है .

आपने और हमने जीवन का एक-एक पल संसार को सँवारने में लगा दिया , मोह और ममता को भेंट कर दिया , मगर अब तो चेतें और शेष बचे समय को भगवान को अर्पित करें , भजन में लगाये .

यह संसार एक ऐसी आश्चर्य भरी कहानी है जो कहने में नहीं आती . माया का अथाह महासागर चरों तरफ लहरा रहा है , तरंग बड़े वेग से उठ रही है , कुछ देर दिखाई देती है , फिर उसी में लय हो जाती है . संस्कार के सारे प्राणी इसी में प्रगट होते और लय हो जाती है . संसार के सारे प्राणी इसी में प्रगट होते और लय होते दिखाई देते है .

सब जगह परिवर्तन का नजारा है . बालपन में देखा , युवावस्था में देखा , और अब साठ-सत्तर वर्ष के बुढ़ापे में भी देख रहे है कि किसी के माता-पिता नहीं रहे , इष्ट मित्र चल बसे , किसी की सहधर्मिणी ने साथ छोड़ दिया , किसी का भाई साथ छोड़कर चला गया , किसी का पुत्र चला गया . कि…

अध्यात्म की पहली सीढ़ी - तौबा... First Step In The Path Of Spirituality

[caption id="attachment_11317" align="aligncenter" width="425"] अध्यात्म की पहली सीढ़ी - तौबा... First Step In The Path Of Spirituality[/caption]

एक बार की बात है एक स्त्री (women) दर्पण (mirror) में अपना मुख (face) देख रही थी और देखकर उसने दर्पण (mirror) फेंक दिया. दूसरा दर्पण (mirror) लाई उसमे भी अपना मुख देखा और इस दर्पण (mirror) को भी फेंक दिया. इस प्रकार दो दर्पण (mirror) और तोड़ दिए. दूसरी स्त्री (women) वहां खाड़ी थी वह उससे बोली कि बहन (sister) अगर तुम्हारे पास दर्पण (mirror) अधिक है तो मुझे दे दो इस प्रकार फेंक क्यों रही हो.


पहली स्त्री बोली कि बहन यह दर्पण (mirror) बड़े बुरे (bad) हैं. इसमें चेहरा गन्दा (dirty) दिखाई दे रहा है. इसीलिए मैं इनको फेंक रही हूं. दूसरी स्त्री ने कहा देखो बहन ऐसा करो कि साबुन (soap)और पानी से अपना चेहरा धो (face wash) आओ. वह स्त्री समझदार (brainy) थी, चली गई, चेहरा धोकर आई और फिर जब चेहरा दर्पण (mirror) में देखा तो प्रसन्न (happy) हो गई.

सच पूछिए तो हम सबका व्यवहार (behavior) ऐसा ही है जैसा पहली स्त्री (women) का था. हम भी स…

भाव और भगवान एक सच्ची कहानी - Emotion and god a real story, in Hindi

[caption id="" align="aligncenter" width="341"] भाव और भगवान एक सच्ची कहानी - Emotion and god a real story, in Hindi[/caption]


एक बार शंकराचार्य जी यात्रा (journey) पर जा रहे थे. तो उन्होंने एक गावं (village) के किनारे देखा कि एक भक्त (devotee) गीता (Holy Book GEETA) सामने रखे रो (crying) रहा है. अश्रुधार (tear) बह रही है. कौतुहलवश (curiousness) वह वहां खड़े हो गए तो उन्होंने देखा कि बिच में वह गीता के श्लोक भी बोलता है परन्तु (but) इस तरह से जैसे उसे संस्कृत (sanskrit) नहीं आती.

बहुत देर खड़े रहे. जब उस भक्त को होश आया तो उन्होंने पूछा कि 'आपको संस्कृत नहीं आती, यह मैंने आपके उच्चारण (pronunciation) से ज्ञात (knowing) किया और जब संस्कृत नहीं आती इस श्लोक का अर्थ (meaning) भी नहीं आता होगा, फिर यह अश्रुधार (tear) आपके कैसे बह रहे है.

तो भक्त (devotee) ने जबाव दिया कि मुझे, आप सच (truth) कहते ह, न संस्कृत आती है न इन गीता के श्लोकों का अर्थ (meaning) आता है, परन्तु (but) जब मैं इसको लेकर बैठता हूं तो मुझे भगवान कृष्ण (Lord Krishna) दिखाई देता है जो उस समय…

गाजर खाने के 8 फायदे - 8 Health Benefits Of Carrot in Hindi

गाजर खाने के 8 फायदे - 8 Health Benefits Of Carrot in Hindi, gajar khane ke fayde, gajar khane se kya hota hai?, gajar khana sehat ke liye accha hota hai.

स्वादिष्ट हलवा से लेकर सलाद , सूप आदि में इस्तेमाल होने वाला गाजर स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है . सर्दियाँ आते ही market में गाजर की बहार देखकर मन खुश हो जाता है . कुदरती मिठास से भरपूर गाजर सेहत के लिए कितना फायदेमंद है ? आइए जानते है .

Vitamin-A से भरपूर गाजर स्वादिष्ट होने के साथ-साथ सेहतमंद भी होता है . सलाद के रूप में कच्चा खाने से लेकर , इससे हलवा , खीर , सब्जी आदि ढेर साडी चीजें बनाई जा सकती है . किसी भी रूप में गाजर का सेवन फायदेमंद होता है . रोजाना गाजर का सेवन करने से आप कई रोगों से बच सकते है . तो देर किस बात की , आज से ही अपनी diet में गाजर को जरुर शामिल कीजिए .
➀ चश्मे के नंबर घटता है
Vitamin , nutrition और minerals से भरपूर गाजर आँखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है . रोजाना गाजर का juice पिने से आँखों की रोशनी बढ़ती है . इतना ही नहीं , सलाद में गाजर का अधिक उपयोग करने से भी धीरे-धीरे आँखों की रोशनी बढ़ती है और आँखों से जुडी p…

क्या है जीवन मुक्ति का उपाय ? - What is remedy for life liberation ?

[caption id="" align="aligncenter" width="366"] क्या है जीवन मुक्ति का उपाय ? - What is remedy for life liberation ?[/caption]


मौसम (season) के बारे में जो भविष्यवाणियाँ (prediction) होती है उसमें हमेशा यह लिखा रहता है अभी दो दिन और शीत (cold) पड़ने की संभावना (chances) है. यह नहीं होता कि उसमें यह लिखा हो कि दो दिन शीत (cold) और पड़ेगी. यह संभावना (chances) या अनिश्चितता (uncertainly) ही प्रकृति (nature) का अभिन्न अंग (integral part) है.

प्रकृति (nature) में जो कुछ होता है उसमें हमेशा एक अनिश्चितता (uncertainly) बनाई जाती है. कम ज्यादा हो सकती है परन्तु यह रहती अवश्य (sure) है. हमारे भी जीवन में जन्म से लेकर मृत्यु (death) तक यह अनिश्चितता (uncertainly) हर समय हमारे साथ रहती है. हम अभी नहीं कह सकते कि अगले पल क्या होगा हम रहेंगे या नहीं रहेंगे. यह अनिश्चितता (uncertainly) हमारे दुखों (sadness) का भी कारण है, क्योंकि हम माया (illusion) के प्रभाव में हमेशा इस अनिश्चितता (uncertainly) को भूले (forgot) रहते है.

हम जो भी कार्य (performance) संसार में सुख पाने के…

अपराधी कौन ? - Vikram Betaal Ki Kahani

बनारस में देवस्वामी नाम का एक ब्राहमण रहता था . उसका हरिदास नाम का एक पुत्र था . हरिदास की पत्नी बड़ी सुन्दर थी . नाम था लावण्यवती . एक दिन वे अपने भवन के ऊपर छत पर सो रहे थे .

आधी रात के समय एक गंधर्व कुमार आकाश में घूमता हुआ उदार से निकला . वह लावण्यवती के रूप पर मुग्ध होकर , उसे उड़कर ले गया . जागने पर हरिदास ने देखा कि उसकी स्त्री नहीं है तो उसे बड़ा दुख हुआ और वह मरने के लिए तैयार हो गया . लोगों ने समझाने पर वह माना तो गया लेकिन यह सोचकर कि तीरथ करने से शायद पाप दूर हो जाय और स्त्री मिल जाय , वह घर से निकाल पड़ा .

चलते-चलते वह किसी गांव में एक ब्राहमण के घर पहुंचा . उस समय उसे बड़ी जोर की भूख लगी हुई थी . वह भूखा-प्यासा एक ब्राहमण के घर के सामने जा पहुंचा . उसे भूखा देख ब्राहमणी ने उसे कटोरा भरकर खीर दे दी और तालाब के किनारे बैठकर खाने को कहा . हरिदास खीर लेकर एक पेड़ के निचे आया और कटोरी वहां रखकर तालाब में हाथ-मुंह धोने गया . इसी बिच एक बाज किसी सांप को लेकर उड़ता हुआ आया और उसी पेड़ पर आ बैठा .

इस बिच हरिदास लौटा और जब वह खीर खाने लगा तो सांप के मुंह से जहर टपककर कटोरे में गिर गया . हरिद…

अनूठी कला - Vikram Betaal Ki Kahani

राजा विक्रमादित्य ने इस बार भी पहले की तरह शमशान में पहुँच कर पेड़ से शव को निचे उतारा और उसे कंधे पर डालकर मौन भाव से चल दिए . कुछ आगे चलने पर शव के स्तिथ बेताल ले फिर कहा - ' राजन ! आप मेरा बोझ उठाये चल रहे है और ऊपर से खामोश भी है . रस्ते का सफ़र आराम से कटे , इसके लिए मैं आपको एक कहानी सुनाता हूं . सुनिए -

' प्राचीनकाल में उज्जयिनी में विरदेव नमक एक राजा राज्य करता था . उसकी रानी का नाम पदामरती था . उसकी कोई संतान नहीं थी . पुत्र-प्राप्ति की कामना से राजा और रानी ने मंदाकिनी के तट पर जाकर , तपस्या करने के बाद जब स्नान और अर्चना की विधियाँ पूरी की , तब भगवान शंकर प्रसन्न हुए और आकाश से उनकी वाणी सुनाई पड़ी - ' राजन ! तुम्हारे कुल में एक पराक्रमी पुत्र और एक अतुलनीय रूपवती कन्या जन्म लेगी , जो अपनी सुन्दरता से अप्सराओं का भी तिरस्कार करेगी . '

यह आकाशवाणी सुनकर राजा विरदेव की कामना पूरी हो गई . वह अपनी पत्नी के साथ अपनी नगरी में चला गया . कुछ समय बाद रानी ने एक पुत्र को जन्म दिया . उसका नाम शुरदेव रखा . फिर कुछ दिनों बाद एक एक कन्या ने जन्म लिया . अपने सौन्दर्य से कामदेव …

Mother Teresa Quotes In Hindi

Mother Teresa Quotes In Hindi

हम सभी महान कार्य नहीं कर सकते
लेकिन कार्यों को प्रेम से कर सकते है .
Hum sabhi mahan kary nahi kar sakte
lekin karyo ko prem se kar sakte hai .

Mother Teresa
अगर आप सेकड़ो इंसानों का पेट नहीं भर सकते
तो केवल एक को भोजन दीजिए .
agar aap saykado insano ka pet nahi bhar sakte
to keval ek ko bhojan dijiye .

Mother Teresa
खुबसूरत लोग हमेशा अच्छे नहीं होते
अच्छे लोग हमेशा खुबसूरत होते है .
Khubsurat log hamesha acche nahi hote
acche log hamesha khubsurat hote hai .

Mother Teresa
यह महत्वपूर्ण नहीं कि आपने दिया है
बल्कि महत्वपूर्ण यह है कि
देते समय आपने कितने प्रेम से दिया .
Yah mahatvapurn nahi ki aapne diya hai
balki mahatvpurn yah hai ki
dete samay aapne kitne prem se diya .

Mother Teresa
बागवान यह नहीं अपेक्षा करते की हम सफल हों
वे तो केवल इतना ही चाहते है कि
हम प्रयास करें .
Bhagwan yah nahi apeksha karte ki hum safal ho
ve to keval itna hi chahte hai ki
hum prayas karen .

Mother Teresa
कल वो चला गया
आने वाला कल अभी आया नहीं
हमारे पास केवल आज है
आईये शुरुआत करें .
Kal wo gya
aane wala kal ab…

कैसे अपने होठों को सुन्दर बनाये ? - How to make your lips look beautiful? IN HINDI

कैसे अपने होठों को सुन्दर बनाये ? - How to make your lips look beautiful? IN HINDI Kaise hoth ki sundarta badhaye kaise apne hotho ko sundar banaye, kaise apne lips ko gulabi banaye?

स्त्री शारीर के कातिल अंग होंठ ही माने गए है . सौन्दर्य-वृद्धि में होठों का विशेष योगदान रहता है . निचला होठ तो प्रेमियों की सबसे बड़ी कमजोरी मानी जाती है . यह पुरुष की सेक्स-भावना को भड़काता है . कवियों ने होठों को रसीलेपन को संज्ञा दी है . यही कारण है कि चेहरे के सौन्दर्य में होठों को सबसे अधिक महत्त्व दिया जाता है .

स्त्री को आकर्षण में होठ अपना विशेष स्थान रखते है . नवयुवतियों के गुलाबी आभा-युक्त होंठ पुरुषों को अपनी ओर attract करने में सक्षम होते है . दूर से ही दिखाई देने वाले आकर्षण-केंद्र होने के कारण स्त्रियों अपने होठों को सुन्दर बनाए रखने तथा lipstick में उन्हें सजाने का निरंतर प्रयत्न किया करती है .

जिन स्त्रियों को अपने होठों को रंग कर अधिक सुन्दर आकर्षक बनाना हो , उन्हें अपने चेहरे के make-up अथवा skin color से मेल खाते हुए रंग तथा shade की lipstick से अपने lips को रंगना चाहिए .

अपने लिए lipstick क…

सफल वैवाहिक जीवन के लिए रिलेशनशिप गाइड - For successful Marital relationship guide in HINDI

सफल वैवाहिक जीवन के लिए रिलेशनशिप गाइड - For successful Marital relationship guide in HINDI, full relationship guide in hindi, pati-patni ka rishta, pati-patni ka relation, relationship guide Hindi me

यह सच है कि अपनी शादी को लेकर कई सपने , कई ख्वाहिशें सभी के मन में होती है , लेकिन इनके साथ ही बहुत से डर और कई उलझनें भी कहीं न कहीं मन में किसी कोने में छिपी होती है , जिन पर शायद शादी के माहौल और ख़ुशी में उतना ध्यान नहीं दिया जाता , जितना देना चाहिए , शादी एक तरह से एक नए जीवन की शुरुआत ही है , एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है , नए रिश्तों को सफलतापूर्वक निभाने की बड़ी चुनौती है .

ऐसे में अपने रिश्तों और अपनी जिंदगी को सरल और आसान बनाने के लिए कुछ बातें जान लेना और उन्हें फोलो करना जरुरी है . यह relationship guide आपको सही दिशा दिखाएगी .
कैसा हो आपका व्यवहार ?
सच बोलें -
जब तक कि आप कोई surprise plan न करें , अपने partner से कुछ भी न छिपाएं . अगर आप अपने दोस्तों के साथ enjoy कर रहे है और अपने partner से यह बहाना बनाते है कि आपको office में late night काम करना है , तो अपनी नई-नई शादी को खतरे में डा…